पीएमएवाई योजना का अवलोकन

2015 में, भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) नामक एक योजना की शुरूआत की गई।

PMAY योजना का लक्ष्य है 2022 तक सभी लोगों को किफायती आवास उपलब्ध कराना। आईसीआईसीआई होम फाइनेंस में, हमने केंद्र सरकार के 'हाउसिंग फॉर ऑल' मिशन के साथ गठबंधन किया है और प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) में उल्लिखित लाभ प्रदान करते हैं।

आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय (MoHUPA) ने जून 2015 में प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) - सभी के लिए आवास के तहत, भारत में आवास की मांगों को पूरा करने के लिए, इडब्लूएस / LIG / MIG सेगमेंट की घर की खरीद / निर्माण / विस्तार / सुधार की जरूरतों को पूरा करने के लिए, एक ब्याज सब्सिडी योजना पेश किया, जिसे क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (सीएलएसएस) कहा जाता है।

हमारा होम लोन प्लान, अपना घर प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के विस्तार के रूप में बनाया गया है, जिसमें आपको ₹ 2.67 लाख तक का सब्सिडी लाभ मिलता है। आवेदन प्रक्रिया से लेकर पात्रता मानदंड तक चुकौती विकल्पों तक में, हम आपके और आपके परिवार के सपनों को सच करने में आपकी सहायता करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

यदि आपका ड्रीम होम आपको गेट बंद समुदायों से परे ग्राम पंचायतों और नियमित कालोनियों में ले जाता है, तो हम आपकी सहायता करेंगे। यदि आप ITR जैसे औपचारिक आय प्रमाणों की व्यवस्था नहीं कर सकते हैं, तो हम आपकी सहायता करेंगे। यदि आपको अतीत में होम लोन प्राप्त करना मुश्किल लगा है या आपको कभी नहीं लगा है कि आपको वास्तव में होम लोन मिल सकता है, तो हम आपकी सहायता करेंगे! हमारी 140 से अधिक ICICI HFC शाखाओं में से प्रत्येक में, आपको मिलनसार, मददगार स्थानीय विशेषज्ञ मिलेंगे जो अपने घर का खुद मालिक बनने के बारे में आपकी सोच को बदल देंगे।

पीएमएवाई लाभ

PMAY के तहत सीएलएसएस होम लोन को किफायती बनाता है क्योंकि ब्याज घटक पर दी जाने वाली सब्सिडी होम लोन पर बहिर्वाह को कम करती है। योजना के तहत सब्सिडी की राशि काफी हद तक उस आय की श्रेणी जिससे आप सम्बंधित होते हैं के साथ-साथ वित्त पोषित होने वाली संपत्ति इकाई के आकार पर निर्भर करती है।

आप PMAY के लिए आवेदन कब कर सकते हैं?

यह योजना तीन चरणों में कार्यान्वित की जा रही है, जिसके पहले दो चरण समाप्त हो चुके हैं। वर्तमान में, अंतिम चरण जारी है; यह 1 अप्रैल, 2019 को शुरू हुई थी और 31 मार्च, 2022 को समाप्त होगी।

इसलिए अगर आप PMAY का लाभ उठाना चाहते हैं, तो यही समय है।

आय समूह (PMAY उद्देश्यों के लिए)
  • ईडब्ल्यूएस/एलआईजी योजना - यह मिशन 17 जून, 2015 से प्रभावी था और 31 मार्च, 2022 तक मान्य है।
  • एमआईजी-1 और एमआईजी-II योजना - मिशन 31 मार्च, 2020 से प्रभावी थी और आगे विस्तार के अधीन 31 मार्च, 2021 तक मान्य है।

लाभार्थी परिवार की परिभाषा: पति, पत्नी, अविवाहित बेटे और / या अविवाहित बेटियाँ। (वैवाहिक स्थिति पर विचार के बिना एक वयस्क कमाई करने वाले सदस्य को MIG श्रेणी में एक अलग घर के रूप में माना जा सकता है)

अन्य शर्तें
  • आय के अलावा, एक और महत्वपूर्ण शर्त है: लाभार्थी परिवार के पास उसके नाम पर या उसके परिवार के किसी भी सदस्य के नाम पर भारत के किसी भी हिस्से में पक्का घर नहीं होना चाहिए;
  • EWS/LIG के लिए - महिलाओं का स्वामित्व / सह--स्वामित्व: केवल नई खरीद के लिए महिलाओं का स्वामित्व अनिवार्य है और पहले से मौजूद भूखंड पर नए निर्माण, या किसी मौजूदा घर की वृद्धि/मरम्मत के लिए यह अनिवार्य है। MIG- I और MIG-II के लिए: अनिवार्य नहीं।
  • यदि आप विवाहित हैं और PMAY का लाभ लेना चाहते हैं, तो आप या आपके पति या पत्नी में से कोई एक या दोनों संयुक्त रूप से आवेदन कर सकते हैं;;
  • एक जोड़े के रूप में आपकी आय को एक इकाई माना जाएगा; हालाँकि, अगर परिवार में कोई दूसरा वयस्क भी कमाने वाला सदस्य है, तो उसे उसकी वैवाहिक स्थिति पर विचार किए बिना एक अलग घरेलू इकाई माना जा सकता है;
  • घर खरीदने / निर्माण के लिए आपको केंद्रीय सरकार की कोई अन्य सहायता नहीं मिली होनी चाहिए;;
  • आपको अपनी कुल पारिवारिक आय के बारे में एक स्व-घोषणा और वांछित संपत्ति का अधिकारनामा अपने लोन प्रदाता को प्रस्तुत करना होगा
  • PMAY के तहत सभी लोन खातों को आपके आधार कार्ड के साथ जोड़ा जाएगा

पीएमएवाई योजना पात्रता

सबसे पहले, संपत्ति खुद ही:

  • सब्सिडी का लाभ उठाने के लिए, आपके द्वारा चुनी गई आवासीय संपत्ति कोई एकल इकाई या किसी बहु-मंजिला इमारत में एक इकाई होनी चाहिए।
  • पात्र इकाई में शौचालय, पानी, सीवरेज, सड़क, बिजली, आदि जैसी बुनियादी सुविधाएं और ढांचा उपलब्ध होना अनिवार्य है;

दूसरा, कालीन क्षेत्र (दीवारें शामिल नहीं हैं) निम्नलिखित से अधिक नहीं होना चाहिए:

  • EWS - 30 वर्ग मीटर (323 वर्ग फुट)
  • LIG - 60 वर्ग मीटर (646 वर्ग फुट)
  • MIG-I - 160 वर्ग मीटर (1722 वर्ग फुट)
  • MIG-II - 200 वर्ग मीटर (2153 वर्ग फुट)

अंत में, स्थान:

  • 2011 की जनगणना के अनुसार सभी वैधानिक कस्बे और बाद में अधिसूचित कस्बे, इसमें वैधानिक शहर के संबंध में अधिसूचित योजना क्षेत्र शामिल को किया गया है।
  • यदि आप जानना चाहते हैं कि आपका शहर पात्र है या नहीं, तो नीचे दिए गए नेशनल हाउसिंग बैंक (NHB) के लिंक पर क्लिक करें, और "स्टैटरी टाउन एंड प्लानिंग एरिया कोड्स" चिह्नित अनुभाग देखें: https://nhb.org.in/government-scheme/pradhan-mantri-awas-yojana-credit-linked-subsidy-scheme/

पीएमएवाई योजना ऋण सीमा

  • EWS: ₹ 6 लाख;
  • LIG: ₹ 6 लाख;
  • MIG(I): ₹ 9 लाख;
  • MIG(II): ₹ 12 लाख
नोट:
निर्दिष्ट सीमाओं से परे अतिरिक्त लोन, यदि कोई हो, बिना सब्सिडी के दर से प्रदान किया जाएगा।
ब्याज सब्सिडी के शुद्ध वर्तमान मूल्य (NPV) की गणना छूट काटने के बाद 9% की दर से की जाएगी

पीएमएवाई योजना ऋण अवधि

सभी चार श्रेणियों के तहत लोन की अवधि 20 वर्ष है।

पीएमएवाई योजना ब्याज दरें

  • EWS: 6.5%; ₹ 2.67 लाख तक
  • LIG: 6.5%; ₹ 2.67 लाख तक
  • MIG(I): 4%; ₹ 2.35 लाख तक
  • MIG(II): 3%; ₹ 2.30 लाख तक

पीएमएवाई योजना के लिए आवेदन कैसे करें

18 लाख तक की वार्षिक आय वाला कोई भी परिवार इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है। यदि आप PMAY सब्सिडी लाभ के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो आप अपना आवेदन हमारी 140 से अधिक ICICI HFC शाखाओं में से किसी भी शाखा में जमा कर सकते हैं। हमारे स्थानीय शाखा विशेषज्ञ मौके पर आपके अनुरोध की समीक्षा करेंगे और आपके दावे को नेशनल हाउसिंग बैंक को आगे बढ़ा देंगे। हमारा उद्देश्य है प्रक्रिया को आपके लिए त्वरित और सरल बनाना।

  1. स्व-घोषणा पत्र को डाउनलोड करें और भरें
  2. इसे अपने नजदीकी आईसीआईसीआई एचएफसी ब्रांच में जमा करें
  3. परिवार के सभी सदस्यों के आधार कार्ड के साथ अपने आईडी प्रूफ की मूल प्रति लेकर जाएं

* सब्सिडी के लिए आपका अनुरोध राष्ट्रीय आवास बैंक से अनुमोदन और अनापत्ति के अधीन है एवं इसे सीएलएसएस का लाभ उठाने के लिए आपकी पात्रता का आकलन से प्रतिस्थापित किया जा सकता है- यह पूरी तरह से भारत सरकार के विवेकाधिकार पर निर्भर है। यह सामग्री योजना के तहत उल्लिखित पात्रता के आकलन के लिए मानदण्ड है।.

पीएमएवाई सब्सिडी कैलकुलेटर

हमारे पीएमएवाई सब्सिडी कैलकुलेटर से पता लगाएं कि क्या आप प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के लिए पात्र हैं और आप कितनी सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं

क्या आपने सरकार से किसी भी आवासीय योजना के तहत केंद्रीय सहायता प्राप्त की है। या PMAY के तहत कोई लाभ?
क्या यह आपका पहला पक्का घर है?
कुल वार्षिक परिवार आय दर्ज करें
Thirty Thousand
ऋण राशि
Ten Lakhs
ऋण अवधि दर्ज करें (महीने)
8 year's and 1 month
महीने

PMAY Subsidy Amount

0


सब्सिडी श्रेणी

EWS/LIG

ईएमआई में शुद्ध कटौती

शुद्ध कटौती मूल्य

नीचे विवरण भरें

कृपया अपना पूरा नाम प्रविष्ट करें
कृपया अपना मोबाइल नंबर प्रविष्ट करें
कृपया ऋण राशि प्रविष्ट करें
कृपया ईमेल आईडी प्रविष्ट करें
अपना शहर चुनें
कृपया नियम और शर्तें स्वीकार करें

प्रधानमंत्री आवास योजना अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रधानमंत्री आवास योजना आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस)/निम्न आय वर्ग (एलआईजी)/मध्यम आय वर्ग (एमआईजी) के कल्याण के लिए आईसीआईसीआई होम फाइनेंस जैसी एजेंसियों के माध्यम से मकान की खरीद/निर्माण/विस्तार/सुधार के लिए आवास ऋण पर ब्याज अनुदान के रूप में केंद्रीय सहायता प्रदान करती है। योजना कार्यान्वयन की अवधि वित्त वर्ष 2015 से वित्त वर्ष 2022 तक है।

पात्रता की शर्तें

स्कीम का प्रकार

ईडब्ल्यूएस

एलआईजी

एमआईजी-I

एमआईजी-II

पात्रता और वार्षिक पारिवारिक आय

0 से 3 लाख रु.

3 लाख से 6 लाख रु.

6 लाख से 12 लाख रु.

12 लाख से 18 लाख रु.

कार्पेट एरिया - अधिकतम (वर्ग मीटर)

30*

60*

160

200

अनुदान के लिए पात्र अधिकतम ऋण राशि

6 लाख रु.

6 लाख रु.

9 लाख रु.

12 लाख रु.

ब्याज अनुदान

6.50%

6.50%

4.00%

3.00%

अधिकतम पात्र अनुदान की राशि

2.67 लाख रु.

2.67 लाख रु.

2.35 लाख रु.

2.30 लाख रु.

ऋण की अधिकतम अवधि, जिस पर अनुदान की गणना की जाएगी

15 साल

15 साल

20 साल

20 साल

योजना की अवधि

31 मार्च 2022 तक 

31 मार्च 2022 तक 

31 मार्च 2021 तक

31 मार्च 2021 तक

स्त्री स्वामित्व

अनिवार्य#

अनिवार्य#

गैर-अनिवार्य

गैर-अनिवार्य

*मरम्मत और नवीनीकरण के मामले में लागू

#निर्माण/विस्तार के लिए महिला स्वामित्व अनिवार्य नहीं है

अन्य शर्तें:

  •         लाभार्थी परिवार के पास अपने नाम से या भारत के किसी भी हिस्से में अपने परिवार के किसी भी सदस्य के नाम पर पक्का घर नहीं होना चाहिए।
  •          विवाहित जोड़े के मामले में, दोनों में से कोई एक या दोनों पति-पत्नी एक साथ (संयुक्त स्वामित्व में) एकल अनुदान के लिए पात्र होंगे
  •         लाभार्थी परिवार के द्वारा भारत सरकार की किसी भी अन्य आवासीय योजना के तहत केंद्रीय सहायता या प्रधानमंत्री आवास योजना में किसी भी योजना के तहत कोई लाभ लिया हुआ नहीं होना चाहिए।

आप अपने प्रधानमंत्री आवास योजना आवेदन की स्थिति का 3 आसान चरणों में आसानी से ऑनलाइन पता लगा सकते हैं:

i. प्रधानमंत्री आवास योजना वेबसाइट पर लॉगइन करें : https://pmaymis.gov.in/track_application_status.aspx

ii. आवेदन की स्थिति का पता लगाने के लिए निम्नलिखित विकल्पों में से एक चुनें:

  ए. अपने नाम, पिता के नाम और मोबाइल नंबर से

या

बी. असेसमेंट आईडी

अब बस इन विवरणों को प्रविष्ट करें और सबमिट पर क्लिक करें। आपके आवेदन की स्थिति आपकी स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगी

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिलने वाले अनुदान का लाभ इस बात पर निर्भर करेगा कि आप किस वर्ग में फिट होते हैं- आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस), निम्न आय वर्ग (एलआईजी), या मध्यम आय वर्ग (एमआईजी [आरजे/1])।

 

ईडब्ल्यूएस

एलआईजी

एमआईजी-I

एमआईजी-II

वार्षिक पारिवारिक आय

0 से 3 लाख रु.

3 लाख से 6 लाख रु.

6 लाख से 12 लाख रु.

12 लाख से 18 लाख रु.

 

आप यह जान सकते हैं कि क्या आप प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के लिए पात्र हैं और हमारे पीएमएवाई सब्सिडी कैलकुलेटर के साथ यह भी कि आप योजना के तहत कितना अनुदान प्राप्त कर सकते हैं।

चाहे आप एक छोटी सी किराने की दुकान चलाते हों या आप कहीं नौकरी करते हों, अपने सपनों का घर बनाना आपका मूल अधिकार है। प्रधानमंत्री आवास योजना 2015 में आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय (MoHUPA) द्वारा शहरी क्षेत्रों में सभी के लिए आवास सुनिश्चित करने के मिशन के साथ शुरू की गई थी।

 

यदि आप एक नया घर खरीदना चाहते हैं, जिसमें पुराना घर खरीदना भी शामिल है, तो प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ उठाया जा सकता है। आप आईसीआईसीआई होम फाइनेंस जैसी कार्यान्वयन एजेंसियों के माध्यम से घर के निर्माण तक के लिए भी ऋण ले सकते हैं। आप योजना के तहत अपने कच्चे घर को पक्के घर पर भी निर्मित कर सकते हैं। योजना के तहत प्रदान की जाने वाली ब्याज अनुदान दर 20 वर्ष तक की अवधि के लिए ऋण लेने वाले सभी लाभार्थियों के लिए आवास ऋण पर 6.5% तक है।

 

आप अपने प्रधानमंत्री आवास योजना आवेदन की स्थिति को आसानी से ऑनलाइन ट्रैक कर सकते हैं। बस विजिट करें : https://pmaymis.gov.in/track_application_status.aspx

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आप 20 वर्षों तक ऋण चुकाने का विकल्प चुन सकते हैं, जबकि अधिकतम ऋण अवधि जिस पर अनुदान की गणना की जाएगी, ईडब्ल्यूएस और एलआईजी योजनाओं के लिए 15 वर्ष होगी। एमआईजी योजनाओं के लिए यह 20 वर्ष है।

प्रधानमंत्री आवास योजना का क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (CLSS) घटक वेतनभोगियों के साथ-साथ स्व-नियोजित आवेदकों द्वारा लिए गए होम लोन्स पर ब्याज अनुदान प्रदान करता है, जो इनके तहत आते हैं :

  • ईडब्ल्यूएस (आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग)
  • एलआईजी (निम्न आय वर्ग)
  • एमआईजी - I (मध्यम आय वर्ग 1)
  • एमआईजी - II (मध्यम आय वर्ग 2)

ईडब्ल्यूएस/एलआईजी श्रेणी के व्यक्तियों को 6 लाख रुपए तक की ऋण राशि पर 6.5% ब्याज अनुदान मिलेगा। एमआईजी - I श्रेणी के व्यक्तियों को 9 लाख रुपए तक की ऋण राशि पर 4% ब्याज अनुदान मिलेगा, जबकि एमआईजी - II श्रेणी के व्यक्तियों को 12 लाख रुपए तक की ऋण राशि पर 3% ब्याज अनुदान मिलेगा। आईसीआईसीआई एचएफसी अपना घर होम लोन के साथ आप जरूरत पड़ने पर गैर-रियायती दर पर अतिरिक्त ऋण ले सकते हैं।

प्रधानमंत्री आवास योजना- क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम के तहत, सभी श्रेणियों के लिए घर का क्षेत्र अलग होता है। सीएलएसएस के तहत ब्याज अनुदान के लिए पात्र घरों का कार्पेट एरिया (घर की दीवारों के भीतर अंदर घिरी हुई जगह, आंतरिक दीवारों की मोटाई को छोड़कर) इस प्रकार है :

  •        ईडब्ल्यूएस - 30 वर्ग मीटर (लगभग 323 वर्ग फुट)
  •        एलआईजी - 60 वर्ग मीटर (लगभग 646 वर्ग फुट)
  •        एमआईजी-I - 160 वर्ग मीटर (लगभग 1722 वर्ग फुट)
  •       एमआईजी-II - 200 वर्ग मीटर (लगभग 2153 वर्ग फुट)